dekhne ka nazariya

problem solver advisor contact

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप लोग स्वागत है आप लोगों का मेरा एक नए ब्लॉग पर तो आज हम बात करने वाले हैं कि अगर आप लोगों को कोई भी प्रॉब्लम है जिसका अब सॉल्यूशन चाहते हैं चाहे वह प्रॉब्लम कैसी भी हो सकती है तो आप मुझे जल्द से जल्द कांटेक्ट करें अगर आपको लाइफ में किसी भी चीज के लिए दिक्कत हो रही है और आप चाहते हैं कि आप उसे दिक्कत से बाहर आ जाए चाहे वह दिक्कत कैसी भी हो सकती है चाहे आपकी गर्लफ्रेंड ने आपको छोड़ दिया हो या आप समझ नहीं पा रहे हैं आपके जीवन में क्या करना है या फिर और कोई भी अन्य दिक्कत है जो लाइफ से जुड़ी हुई है या आपके फाइनेंशियल प्रोबलम से जुड़ी हुई है या आपके कोई नए बिजनेस से जुड़ी हुई है या आपको कोई बिजनेस करने में प्रॉब्लम आ रही है तो आप मुझसे कांटेक्ट कर सकते हैं मेरा कांटेक्ट मेल id है  abhim3693@gmail.com  आप लोग मुझे इस पर मेल कर सकते हैं मैं यह नहीं कहता कि आपका प्रॉब्लम का हंड्रेड परसेंट सॉल्यूशन हो जाएगा हां मगर इतना जरूर बता सकता हूं कि आपको मुझसे बात करके काफी कुछ मदद मिलेगी अपने जिंदगी के लिए तो फिर किस बात की कर रहे हैं जल्दी कांटेक्ट करें कोई भी प्रॉब्लम का सॉल्य

For Religious people-धार्मिक लोगों के लिए

For Religious people-धार्मिक लोगों के लिए


हेलो दोस्तों स्वागत है आपका मेरे एक नए ब्लॉक पर और आज मैं बात

करने वाला हूं धार्मिक लोगों के बारे में जो ऊपर वाले को सच्चे दिल से

मानते हैं लेकिन उससे पहले मैं आप लोगों को बता दूं कि अगर आपके मन

में कोई भी लाइव रिलेटेड प्रॉब्लम है जिसे आप सॉल्यूशन चाहते हैं तो आप

मुझे मेल कर सकते हैं मेरा मेल आईडी आप लोगों को मेरे ब्लॉग पर ही

मिल जाएगा और मैं यह नहीं कहता कि मैं आप लोगों का प्रश्न का उत्तर

एकदम सही दूंगा हां मगर इतना जरूर बता सकता हूं कि आप लोगों को

मेरा देखने का नजरिया काफी हद तक पसंद आएगा


तो चलिए शुरू करते हैं

धार्मिक इंसान


देखिए जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं की हर एक व्यक्ति किसी न किसी

 धर्म को मानता है फिर चाहे वह ईसाई हो हिंदू हो मुस्लिम हो या फिर कोई

 भी धर्म का हो वह अपने ऊपर वाले को मानता है और सच्चे दिल से मानता

 है और अगर बात उनके धर्म पर आ जाए तो वह लड़ने तक के लिए तैयार

 हो जाते हैं देखिए यह बिल्कुल सही बात है कि जिस पर हम बचपन से ही

 भरोसा करते हैं हमारे घर वाले हमें सिखाते हैं चाहे वह कोई भी धर्म का हो

 अपने ईश्वर को मनाना हमको बचपन से ही सिखाया जाता है और हम

 उसके लिए अपनी जान तक देने के लिए तैयार हो जाते हैं और देखिए एक

 सच्चा धार्मिक इंसान भी होता है जो हर बात चाहे वह गीता की हो बाइबल

 की हो या फिर कुरान की या फिर किसी अन्य पवित्र शास्त्र की उन्हीं की

 बातों को मानता है पड़ता है और वह चाहता है वह पूरा जीवन इस पर निर्भर

 हो और उसी के हिसाब से अपने जीवन को चलना है लोगों के संग अच्छा

 व्यवहार करता है और उसके मन में लोगों के लिए एक प्रेम होता है किसी से

 वह उल्टा सीधा या गाली गलौज नहीं करता है क्योंकि कोई भी धर्मशास्त्र

 हमें यह नहीं सिखाता कि हम किसी दूसरे इंसान को नीचा दिखाएं या गिराए

 और एक सच्चा धार्मिक इंसान इन सारी बातों को मानता है और वह अपने

 धर्म के अनुसार और अपने पवित्र शास्त्र के अनुसार ही अपने जीवन में आगे

 बढ़ता है और ऊपर वाले से एक सच्चे मन और सच्चे दिल से उनके घर मेरा

 मतलब मंदिर मस्जिद या चर्च में जाता है और अपने सच्चे दिल से अपनी

 इच्छाओं को बताता है और धार्मिक इंसान की एक सबसे अच्छी बात यह है

 कि चाहे उसके पास पैसा कम भी है तो भी वह किसी को दुख देकर पैसा

 कमाने की नहीं सोचता है क्योंकि वह उपर वाले से डरता है और जानता है

 कि यह दुनिया केवल दिखावटी है बस इसलिए एक सच्चा धार्मिक इंसान

 अपने जीवन को सबके साथ काफी प्यार के साथ आगे बढ़ता है और उसके

 बावजूद भी अगर उसके धर्म को कोई गलत बताता है तो वह मरने तक के

 लिए तैयार हो जाता है l


Superficially Religious People



देखिए ऊपर वाले को हम सभी लोग मानते हैं लेकिन मैं इसमें बात कर रहा

हूं जिसको ऐसा लगता है कि मैं ऊपर वाले को मानता हूं मगर वह थोड़ा कम

मानते हैं कैसे चलिए बताता हूं देखिए चाहे आप किसी भी धर्म के हैं हर धर्म

में किसी को सताना किसी को परेशान करना यह नहीं सिखाया गया है और

अगर आप सच में ऊपर वाले को मानते ही हैं तो जरा अपने दिल से पूछिए

कि आप एक श्रद्धा के साथ क्या ऊपर वाले के घर पर जाते हैं चाहे वह चर्च

हो गुरुद्वारा हो मंदिर हो मस्जिद हो देखिए हम में से कई लोग सिर्फ अपने

कपड़े दिखाने के लिए चार्ज और मंदिर में जाते हैं यहां तक की कई लोग

मंदिर,माजिद, चर्च में सिर्फ किसी लड़की को मांगने जाते हैं या फिर सिर्फ

जब हमारे काम ऊपर वाले से होते हैं या हमें अपनी कक्षा में पास होना होता

है या हमारे कोई काम अटके होते हैं तभी हम ऊपर वाले को याद करते हैं

लेकिन अगर आप डेली बेसिस उनके लाइफ से पूछोगे तो वह ऊपर वाले

को ज्यादा नहीं मानते हैं जब उनके ऊपर कोई विविधता आती है तब वह

ऊपर वाले की तरफ भागते हैं l और ऐसा नहीं है ऊपर वाला तब भी उनका

साथ देता है उसके बाद कुछ समय तक वह लोग ऊपर वाले को याद रखते

हैं उसके बाद काम हो जाने के बाद वह उसको भुला देते हैं मैं खुद भी ऐसे

ही हूं कि मैं भी तभी ऊपर वाले को याद करता हूं जब मुझे उनकी जरूरत

होती है और जब मेरा कार्य ऊपर वाला पूरा कर देता है उसके बाद में उन्हें

भुला देता हूं जो की बहुत गलत है देखिए कोई भी धर्म या कोई भी पवित्र

शास्त्र हमें यह नहीं सिखाता कि आप दूसरे के लिए मन में बैर रखें या फिर

किसी का दिल दुखाए या फिर आप मंदिर मस्जिद गुरुद्वारा या कोई भी

धार्मिक जगह पर सिर्फ अपने कार्य किए जाएं और कार्य होने के बाद आप

वहां से कम हो जाए देखिए हम में से कई लोग अपने धर्म के हिसाब से

मस्जिद मंदिर चार्ज में जाते हैं लेकिन आप अपने दिल से पूछिए क्या एक

सच्ची श्रद्धा के साथ आप वहां जाते हैं आप उनसे मानते हैं जो आपको

चाहिए होता है लेकिन सच्चाई यह है अगर आप ऊपर वाले को सच्चे दिल से

मानेंगे तो आप कभी भी किसी भी परिस्थिति में उनको नहीं छोड़ेंगे और

किसी का भी दिल आप नहीं दिखाएंगे


मैं सोचता हु 


देखिए मैं सोचता हूं हम सभी धर्म के लोगों की इज्जत करते हैं हां वह सही

बात है कि किसी को भी किसी के धर्म के बारे में उल्टा नहीं बोलना चाहिए

और हमें सभी धर्म की इज्जत करनी चाहिए फिर चाहे वह हिंदू हो मुसलमान

हो या कोई भी अन्य धर्म का इंसान हो सभी की हमें इज्जत करनी

चाहिए और मैं सोचता हूं की सच्चा धार्मिक इंसान वही है जो दूसरे लोगों की

इज्जत करें अपने से बड़े को बड़े जैसी इज्जत और छोटे को छोटी जैसी

इज्जत हां वह सही बात है कि अगर कुछ भी गलत होते हुए देखा है तो उसे

उसके खिलाफ बोलना चाहिए फिर चाहे वह किसी भी धर्म का हो और मैं

यह मानता हूं कि किसी भी धर्म को या किसी भी भगवान को गिरना नहीं

चाहिए क्योंकि हम जानते हैं कि ऊपर वाला एक है हम उसे अलग-अलग

नाम उसे जानते हैं और हमारा विश्वास है और हम इस पर चलते हैं तो मेरा

मानना इतना ही है कि सच्चा धार्मिक इंसान लोगों की इज्जत करता है किसी

के दिल को नहीं दुखाता और गरीबों की सहायता करता है तभी ऊपर वाला

उनका हमेशा साथ देता है क्योंकि हम जानते हैं कि यह हमारा शरीर है जो

की यही रह जाएगा लेकिन हमारी आत्मा ऊपर वाले के पास जाएगी और

उसको जवाब देना होगा कि हमने किस तरीके के कम इस धरती पर

रहकर किए हैं तो बस मेरा मानना इतना ही है कि सच्चा धार्मिक इंसान हर

तरीके से लोगों की मदद करता है किसी को गिराता नहीं है और सच्चा

धार्मिक इंसान ना ही गरीब और ना ही अमीर इनको नहीं मानता है वह

सबको एक ही नजर से देखता है देखिए माना कि अगर किसी के पास पैसे

कम है चाहे वह आपका दोस्त रिश्तेदार या कोई भी अन्य इंसान हो सकता

है तो हम लोग उसे थोड़ा दूर ही रखना पसंद करते हैं चाहे वह दिल का

कितना भी अच्छा हो जो की काफी गलत है क्योंकि हम लोगों को ऐसा लगता

है कि कहीं यह हमसे कुछ पैसे ना मांग ले देखिए अगर आपको ऊपर वाले

ने उस लाइक बनाया है कि आप किसी गरीब की मदद कर सकते हैं तो

मेरा कहना इतना ही है कि अगर आपके थोड़े पैसे किसी गरीब के लिए चले

जाते हैं तो आपको ऊपर वाला उससे अधिक देता है जबकि हम लोग मंदिर

मस्जिद या चार्ज में कितना-कितना पैसा दान में दे देते हैं l और सच्चाई तो

यह है कि अगर आप मंदिर मस्जिद या फिर किसी भी धार्मिक स्थल पर

अगर थोड़ा पैसा कम भी देकर आप अगर उन पैसों को थोड़ा गरीब में दे

देंगे तो शायद ऊपर वाला आपकी काफी जल्दी सुनेगा और आपको दिल से

खुशी भी मिलेगी के आपकी वजह से कोई रोटी खा पाएगा लेकिन  हमे

किसी गरीब आदमी को पैसा देने में काफी दुख होता है जो की काफी गलत

है l  और सच्चा धार्मिक इंसान ऐसा नहीं करता है वह सबको बिल्कुल

बराबर की इज्जत देता है और उसको ऐसा लगता है कि अगर वह मंदिर

मस्जिद या किसी भी अन्य धर्मस्थल पर थोड़ा पैसा कम देकर अगर किसी

गरीब की मदद कर देगा तो शायद उसकी दुआ सीधे ऊपर वाले तक

पहुंचेगी और यह सच भी है कि अगर आपको कोई दिल से दुआ देता है तो

उसकी दुआ सीधे ऊपर वाले तक पहुंचती है और सच्चाई यह है कि अगर

आप किसी जरूरतमंद की मदद करते हैं तो आपको दिल से खुशी मिलती

है और मैं सारे धर्म और सारे लोगों की एकदम बराबर इज्जत करता हूं बाकी

अगर किसी को भी मेरी बात का बुरा लगा तो मुझे माफ करना मेरा किसी

का दिल दुखने का इंटेंशन नहीं था मेने बस सच्चाई बताई है l


बाकी सब का देखने का नजरिया अलग-अलग है

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

new generation l आजकल के बच्चे....

भाभी देवर का रिश्ता-Relation of bhabhi and devar

DIGITAL ZINDAGI I LIFE WITH INTERNET